भागीदारी के क्षेत्

परमाणु ऊर्जा परियोजनाएं

  •  आई ए ई ए और ए ई आर बी दिशानिर्देशों के अनुसार नाभिकीय प्रतिष्ठानों के लिए सेसिमो-टेक्टोनिक जांचें।
  •  लीनियमेण्ट विश्लेषण- विभिन्न उपग्रह छवियों के विश्लेषण और भारत सर्वेक्षण के सर्वेक्षण पत्र से लीनियमेण्ट मानचित्र की तैयारी।
  •  सक्रिय दोष मानचित्रण - संभावित सक्रिय त्रुटियों का मानचित्रण और इतिहास में हुए विस्थापन से प्राप्त जानकारी से भूकंपीय खतरे के मूल्यांकन में प्रमुख इनपुट होता है।
  •  पैलीओ भूकंपीय अध्ययन - पैलीओ भूकंप और उसके समय की पहचान किसी क्षेत्र के भूकंपीय खतरे के आकलन का अभिन्न अंग है।
  •  भूकंपीय स्रोत विशेषता- स्रोत विशेषता उस दर का वर्णन करती है जिस पर दिए गए परिमाण और आयामों (लंबाई और चौड़ाई) के भूकंप किसी दिए गए स्थान पर होते हैं।
  •  निर्माण चरण अभियांत्रिकी भूगर्भीय जांच।
  •  सामरिक स्थानों पर शिला द्रव्यमान क्षति नियंत्रण।