न्यूमेरिकल मोडलिंग

संख्यात्मक प्रतिरूपण शिला में खुदाई के योजना के लिए प्रमुख और व्यापक रूप से स्वीकार्य उपकरण में से एक है। संख्यात्मक प्रतिरूपण विभाग में भूगर्भीय, सिविल और खनन अभियान्ताओं की अनुभवी समूह शामिल है, जिसे शिला में खुदाई से संबंधित विभिन्न समस्याओं के समाधान प्रदान करने में विशेषज्ञता है। खुदाई के आसपास अनुमानित शिला द्रव्यमान व्यवहार को नवीनतम परिमित तत्व विधि (फेम), परिमित अंतर विधि (एफडीएम) और पृथक तत्व विधि (डीईएम) का उपयोग करके विश्वसनीय रूप से भविष्यवाणी की जाती है।इन संख्यात्मक तरीकों के आधार पर विभिन्न सॉफ़्टवेयर इस संस्थान में उपलब्ध हैं।संख्यात्मक प्रतिरूपण विभाग को ढलान स्थिरता अध्ययन, तनाव विश्लेषण और सुरंगों, भूमिगत गुफाओं और सिविल और खनन इंजीनियरिंग दोनों के लिए तथा बड़े खुदाई के लिए समर्थन डिजाइन करने में विशाल अनुभव है। संख्यात्मक प्रतिरूपण के साथ, विभाग सभी प्रकार के भूमिगत खुदाई के उपकरण और निगरानी से संबंधित सेवाएं भी प्रदान करता है।

भूमिगत गुफाओं के लिए संख्यात्मक प्रतिरूपण के आधार पर योजना से संबंधित हमारी परियोजनाएं हैं:-

  •   कॅनन्टीन्यूम (एफएलएसी 3 डी) और डिस्कॅनन्टीन्यूम (3 डीईसी) संख्यात्मक प्रतिरूपण सॉफ्टवेयर का उपयोग कर गुफाओं का तनाव विश्लेषण और योजना।
  •   खुदाई में स्टील रिब्स, रॉक बोल्ट और एस.एफ.आर.एस. (स्टील फाइबर प्रबलित शॉट्रीट) जैसे विभिन्न प्रकार के समर्थन का डिजाइन।
  •   शिला द्रव्यमान से युग्मित थर्मो-हाइड्रो- यांत्रिक विश्लेषण।
  •   भूजल प्रवाह विश्लेषण।
  •   भूकंप-संबंधी और खान शिला विस्फोटन का विश्लेषण करने के लिए गत्यात्मक विश्लेषण।
  •   परमाणु अपशिष्ट अपवहन के लिए सामग्रियों में संवाहन और उत्थान दोनों का विश्लेषण करने के लिए थर्मल विश्लेषण।
  •   नवीनतम संख्यात्मक प्रतिरूपण सॉफ्टवेयर का उपयोग कर रॉक के समय-निर्भर सामग्री का व्यवहार विश्लेषण।